More

    MBBS: एमबीबीएस की डिग्री क्या है। MBBS कैसे और कहाँ करे

    आज करियर के लिए भले ही नए ऑप्शंस क्यों न आ जाएं लेकिन डॉक्टर बनने का सपना वाले लोग कम नहीं आज भी स्टूडेंट्स डॉक्टर बनने का सपना देखते हैं और उसे पूरा करने के लिए जी जान से कोशिश भी करते हैं ऐसे में अगर आपको डॉक्टर बनने से जुड़े इम्पॉर्टेंट डिग्री के बारे में जानकारी मिल जाए तो आपके लिए डॉक्टर बनने के प्रोसेस को समझना बहुत आसान हो सकता है  इसलिए आज TanvisH.In आपके लिए एमबीबीएस डिग्री से जुड़ी सभी जरूरी और खास जानकारियां इस पोस्ट में लेकर आया है  इसीलिए इस पोस्ट को पूरा जरूर पढ़े चलिए शुरू करते हैं।

    एमबीबीएस की डिग्री क्या है।

    एमबीबीएस एक ग्रेजुएट कोर्स जो मेडिकल साइंस की प्रफेशनल डिग्री है इस डिग्री को लेने के बाद कैंडिडेट डॉक्टर बन पाता है एमबीबीएस की फुल है बैचलर आफ मेडिसिन एंड बैचलर ऑफ सर्जरी इस कोर्स के ड्यूरेशन साढ़े पांच साल होती है जिसमें से एक साल इंटर्नशिप का होता है एमबीबीएस कोर्स में एनाटॉमी, फार्माकोलॉजी, पैथोलॉजी, कम्युनिटी, हेल्थ इन मेडिसिन, पीडियाट्रिक्स, और सर्जरी सब्जेक्ट्स शामिल होते हैं और एकेडमिक एजुकेशन पूरी होने के बाद इंटर्नशिप के दौरान आपको हॉस्पिटल्स हेल्थ केयर सेंटर्स में फिजिशियन कंसल्टेंट या क्रिटिकल केयर यूनिट में मेडिकल असिस्टेंट के तौर पर प्रैक्टिस करने का मौका मिलता है फ्रेंडशिप कंप्लीट करने के बाद आप मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया यानी की एमसीआई में अपना नाम डॉक्टर के तौर पर रजिस्टर करवा सकते हैं।

    एमबीबीएस कोर्स करने के लिए क्राइटेरिया क्या होता है।

    अगर आप डॉक्टर बनना चाहते हैं तो आपका ट्वेल्थ क्लास पास होना जरूरी है जिसमें आपके पास साइंस सब्जेक्ट पीसीबी यानि की फिजिक्स केमिस्ट्री और बायोलॉजी हो इसके साथ साथ 12वीं क्लास में कम से कम 50% परसेंट मार्क्स होने ही चाहिए इंग्लिश लैंग्वेज पर आपकी अच्छी कमांड होनी चाहिए एज लिमिट का ध्यान रखना भी यहां पर बहुत जरूरी है। चूंकि एमबीबीएस में एडमिशन के समय आपकी एज कम से कम 17 साल होनी ही चाहिए इसके अलावा मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया यानी एमसीआई के द्वारा लागू किए जाने वाली कंडीशंस को भी पूरा करना जरूरी होता है इन कंडीशंस को पूरा करने के बाद आपको एंट्रेंस एग्जाम देना होगा जिसे क्लियर करने के बाद ही आपका एडमिशन एमबीबीएस कोर्स में हो सकता है।

    एंट्रेंस टेस्ट के बारे में जानते हैं। टॉप मेडिकल कॉलेजेस के नाम।

    एमबीबीएस कोर्स में एडमिशन लेने के लिए आपको नीट क्लियर करना होगा ( NEET ) यानी नेशनल एलिजिबिलिटी कम एंट्रेंस टेस्ट इसी टेस्ट के बेस पर आप एमबीबीएस कोर्स में ऐडमिशन ले सकते हैं इस टेस्ट को गवर्मेंट और प्राइवेट दोनों तरह के इंस्टिट्यूशंस एक्सेप्ट करते हैं पहले एमबीबीएस में एडमिशन के लिए दो मेजर एंट्रेंस टेस्ट हुआ करते थे। एआईपीएमटी और एमबीबीएस एग्जाम और एम्स एमबीबीएस लेकिन यह 2019 में इन दोनों परीक्षा को खत्म कर दिया गया कि नीट इंडिया का सबसे इम्पॉर्टेंट मेडिकल एंट्रेंस टेस्ट बन सके एंट्रेंस एग्जाम क्लियर करने के बाद आप एमबीबीएस कोर्स कर सकते हैं और इसके लिए आपको बताते हैं।

    टॉप मेडिकल कॉलेजेस के नाम।

    एम्स ऑल इंडिया इंस्टिट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेस न्यू दिल्ली | आर्म्ड फोर्सेज मेडिकल कॉलेज पुणे | लेडी हार्डिंग मेडिकल कॉलेज एलए जेएमसी नई दिल्ली | सेठ जीएस मेडिकल कॉलेज मुम्बई | क्रिश्चियन मेडिकल कॉलेज वेल्लोर | मौलाना आजाद मेडिकल कॉलेज एमपीए एमसीए नई दिल्ली | इंस्टिट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज वाराणसी । किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी लखनऊ।

    एमबीबीएस डिग्री होल्डर्स के टॉप रिक्रूटर्स के नाम। एमबीबीएस डिग्री लेने के बाद आगे क्या क्या करियर ऑप्शंस बन सकते हैं।

    फोर्टिस हेल्थकेयर लिमिटेड, मेदांता हॉस्पिटल्स, अपोलो म्यूनिख हेल्थ इंडस्ट्रीज़ को लिमिटेड, सन फार्मास्युटिकल इंडस्ट्रीज लिमिटेड, लीलावती हॉस्पिटल एंड रिसर्च सेंटर, श्री गंगाराम हॉस्पिटल अपोलो, हॉस्पिटल्स एंटरप्राइजेज लिमिटेड, रेलिगेयर हेल्थ इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड, सिप्ला लिमिटेड

    एमबीबीएस डिग्री लेने के बाद आगे क्या क्या करियर ऑप्शंस बन सकते हैं। शिशु चिकित्सक की यानी पीडियाट्रिशियन।

    आप चाहे तो मेडिकल साइंस में एमडी या एमएस जैसी पोस्ट ग्रैजुएशन डिग्री के लिए अप्लाई कर सकते हैं या क्वॉलिफाइड डॉक्टर के रूप में वॉक कर सकते हैं अगर आप पोस्ट ग्रैजुएशन कोर्स की बजाय डॉक्टर के तौर पर करियर शुरू करना चाहें तो ये जान लीजिए कि एमबीबीएस कोर्स कर लेने के बाद इस वर्क ऑप्शन को चुनने पर आपको एवरेज कितनी सैलरी मिल सकती जनरल फिजीशियन जनरल फिजिशन के रूप में अपने करियर की शुरुआत करना एक अच्छा ऑप्शन है जनरल फिजिशन मरीजों की आम बीमारियों की स्टडी डायग्नोसिस और क्या करता है लेकिन किसी केस में क्रिटिकल डिजीज होने पर उस मरीज को उस बीमारी के एक्सपोर्ट डॉक्टर को रेफर करता है।

    जनरल फिजिशन के तौर पर आप शुरुआत में उपरोक्त चार से पांच लाख पर एनम धारण कर सकते हैं और मेडिकल असिस्टेंट सर्जरी की बात करें तो एमबीबीएस कम करने के बाद आप मेडिकल असिस्टेंट के तौर पर भी अपने करियर की शुरुआत कर सकते हैं एक मेडिकल असिस्टेंट रहते हुए अब कार्डियोलॉजी, मेट्रोलॉजी, ऑन्कोलॉजी, नेफ्रोलॉजी, न्यूरोलॉजी, गायनेकोलॉजी और जूलॉजी जैसे स्पेशलाइजेशन में पेशेंट्स की सर्जरी करना सीख सकेंगे अगर आप सर्जन बनना चाहते हैं तो इसके लिए आपको प्रैक्टिस हमेशा जारी रखनी इसीलिए यह एक अच्छा करियर ऑप्शन साबित होगा एक मेडिकल असिस्टेंट के तौर पर करियर की शुरुआत करने पर तीन से चार लाख परमाह कमा सकते हैं।

    शिशु चिकित्सक की यानी पीडियाट्रिशियन।

    एमबीबीएस कोर्स करने के बाद आप शिशु चिकित्सक भी बन सकते हैं। यानी की बच्चों के डॉक्टर एक पीडियाट्रिशियन बच्चों की जनरल ग्रोथ डेवलपमेंट और बीमारियों का ट्रीटमेंट करता है इसके अलावा बच्चों की डायट और एलर्जी जैसे इंश्योरेंस की जानकारी भी पेरेंट्स को देता है एक पीडियाट्रिशियन के तौर पर काम करते हुए आप अपरोक्ष साढ़े चार लाख पर एनम कमा सकते हैं दोस्तो डॉक्टर बनना केवल खुद के सपने को पूरा करने और अच्छा पैसा कमाने तक सीमित नहीं होता है बल्कि इस प्रोफेशन में सेवा की भावना होना पहली जरूरत होती है। यानी मरीजों की बीमारी को आसान तरीके से दूर करने की भावना ही आप कुछ सफल डॉक्टर बना सकती है। इसलिए अगर आप डॉक्टर बनना चाहते हैं तो डीप स्टडी सेल रिपोर्ट्स भारतीय समाज सेवा की भावना जरूरी है अगर आप डॉक्टर बनना चाहते हैं तो हमारी ओर से सारी शुभकामनाएं आपके साथ हैं।

    इसी के साथ ये बहुत बड़ी जिम्मेदारी है और बेस्ट ऑल लगे रहिए उम्मीद मत हारिये कोशिश करते रहिए और आप डॉक्टर बन जाएंगे और वैसे भी इस बारे में आप कोई जो जानकारी मिली है कैसी लगी कमेंट बॉक्स में लिख कर बताइएगा किसी को जरूरत है जानकारी की तो प्लीज उसके साथ लेख अबभी के अभी शेयर कीजिएगा।

    Recent Articles

    Happy birthday wishes कैसे करे जानिए सही तरीका

    आज की लेख में आप सीखेंगे Birthday wishing करने के New Sentences आज मैं आपको इस पोस्ट के से बताऊँगी कि किस...

    जिंदगी में कभी हिम्मत मत हारना – Zindgi mein kabhee himmat mat haarana

    कभी कभी जिंदगी में ऐसा वक्त भी आता है जिससे लगता है कि सब कुछ गलत हो रहा है, ऐसा लगता है जैसे समय...

    अत्यधिक रचनात्मक लोगों की 10 आदतें – 10 Habits of Highly Creative People

    दोस्तों आज की इस दौर में Creative होना बहुत जरूरी है और ये तो आपने भी जरूर सुना होगा की जो Creative है वो...

    जूस पीने से होते हैं कई फायदे, आइये जानते हैं अलग- अलग प्रकार के जूस के फायदे

    जब तक आप इस लेख को पढ़ना समाप्त करते हैं, तब तक आप पुरानी थकान और अन्य स्वास्थ्य समस्याओं के खिलाफ अपनी लड़ाई में...

    प्राकृतिक तरीके से अपने आदर्श को कैसे बनाये रखे आइये जानते है

    नमस्कार, पाठकों, हम स्वास्थ्य के बारे में एक नए विषय के साथ वापस आ रहे हैं। महिलाओं की मुख्य समस्याओं में से एक है...

    Related Stories

    Leave A Reply

    Please enter your comment!
    Please enter your name here

    Stay on op - Ge the daily news in your inbox