Career एमबीबीएस की डिग्री क्या है और MBBS कैसे बने

एमबीबीएस की डिग्री क्या है और MBBS कैसे बने

आज करियर के लिए भले ही नए ऑप्शंस क्यों न आ जाएं लेकिन डॉक्टर बनने का सपना वाले लोग कम नहीं आज भी स्टूडेंट्स डॉक्टर बनने का सपना देखते हैं और उसे पूरा करने के लिए जी जान से कोशिश भी करते हैं ऐसे में अगर आपको डॉक्टर बनने से जुड़े इम्पॉर्टेंट डिग्री के बारे में जानकारी मिल जाए तो आपके लिए डॉक्टर बनने के प्रोसेस को समझना बहुत आसान हो सकता है  इसलिए आज TanvisH.In आपके लिए एमबीबीएस की डिग्री क्या है और MBBS कैसे बने। इस विषय से जुड़ी सभी जरूरी और खास जानकारियां इस पोस्ट में लेकर आया है  इसीलिए इस पोस्ट को पूरा जरूर पढ़े।

एमबीबीएस की डिग्री क्या है।

एमबीबीएस एक ग्रेजुएट कोर्स जो मेडिकल साइंस की प्रफेशनल डिग्री है इस डिग्री को लेने के बाद कैंडिडेट डॉक्टर बन पाता है एमबीबीएस की फुल है बैचलर आफ मेडिसिन एंड बैचलर ऑफ सर्जरी इस कोर्स के ड्यूरेशन साढ़े पांच साल होती है जिसमें से एक साल इंटर्नशिप का होता है एमबीबीएस कोर्स में एनाटॉमी, फार्माकोलॉजी, पैथोलॉजी, कम्युनिटी, हेल्थ इन मेडिसिन, पीडियाट्रिक्स, और सर्जरी सब्जेक्ट्स शामिल होते हैं और एकेडमिक एजुकेशन पूरी होने के बाद इंटर्नशिप के दौरान आपको हॉस्पिटल्स हेल्थ केयर सेंटर्स में फिजिशियन कंसल्टेंट या क्रिटिकल केयर यूनिट में मेडिकल असिस्टेंट के तौर पर प्रैक्टिस करने का मौका मिलता है फ्रेंडशिप कंप्लीट करने के बाद आप मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया यानी की एमसीआई में अपना नाम डॉक्टर के तौर पर रजिस्टर करवा सकते हैं।

एमबीबीएस कोर्स करने के लिए क्राइटेरिया

अगर आप डॉक्टर बनना चाहते हैं तो आपका ट्वेल्थ क्लास पास होना जरूरी है जिसमें आपके पास साइंस सब्जेक्ट पीसीबी यानि की फिजिक्स केमिस्ट्री और बायोलॉजी हो इसके साथ साथ 12वीं क्लास में कम से कम 50% परसेंट मार्क्स होने ही चाहिए इंग्लिश लैंग्वेज पर आपकी अच्छी कमांड होनी चाहिए एज लिमिट का ध्यान रखना भी यहां पर बहुत जरूरी है। चूंकि एमबीबीएस में एडमिशन के समय आपकी एज कम से कम 17 साल होनी ही चाहिए इसके अलावा मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया यानी एमसीआई के द्वारा लागू किए जाने वाली कंडीशंस को भी पूरा करना जरूरी होता है इन कंडीशंस को पूरा करने के बाद आपको एंट्रेंस एग्जाम देना होगा जिसे क्लियर करने के बाद ही आपका एडमिशन एमबीबीएस कोर्स में हो सकता है।

एंट्रेंस टेस्ट

एमबीबीएस कोर्स में एडमिशन लेने के लिए आपको नीट क्लियर करना होगा ( NEET ) यानी नेशनल एलिजिबिलिटी कम एंट्रेंस टेस्ट इसी टेस्ट के बेस पर आप एमबीबीएस कोर्स में ऐडमिशन ले सकते हैं इस टेस्ट को गवर्मेंट और प्राइवेट दोनों तरह के इंस्टिट्यूशंस एक्सेप्ट करते हैं पहले एमबीबीएस में एडमिशन के लिए दो मेजर एंट्रेंस टेस्ट हुआ करते थे। एआईपीएमटी और एमबीबीएस एग्जाम और एम्स एमबीबीएस लेकिन यह 2019 में इन दोनों परीक्षा को खत्म कर दिया गया कि नीट इंडिया का सबसे इम्पॉर्टेंट मेडिकल एंट्रेंस टेस्ट बन सके एंट्रेंस एग्जाम क्लियर करने के बाद आप एमबीबीएस कोर्स कर सकते हैं और इसके लिए आपको बताते हैं।

टॉप मेडिकल कॉलेजेस के नाम

  1. AIIMS All India Institute of Medical Sciences | New Delhi
  2. Armed Forces Medical College Pune
  3. Lady Hardinge Medical College LA JMC | New Delhi
  4. Seth GS Medical College | Mumbai
  5. Christian Medical College | Vellore
  6. Maulana Azad Medical College MPA MCA | New Delhi
  7. Institute of Medical Sciences | Varanasi
  8. King George Medical University | Lucknow

एमबीबीएस डिग्री होल्डर्स के टॉप रिक्रूटर्स के नाम

  1. Fortis Healthcare Limited
  2. Medanta Hospitals
  3. Apollo Munich Health Industry Co Ltd
  4. Sun Pharmaceutical Industries Limited
  5. Lilavati Hospital & Research Center
  6. Sri Gangaram Hospital
  7. Apollo Hospitals Enterprise Limited
  8. Religare Health Insurance Company Limited
  9. Cipla Limited

एमबीबीएस डिग्री लेने के बाद करियर ऑप्शंस

आप चाहे तो मेडिकल साइंस में एमडी या एमएस जैसी पोस्ट ग्रैजुएशन डिग्री के लिए अप्लाई कर सकते हैं या क्वॉलिफाइड डॉक्टर के रूप में वॉक कर सकते हैं अगर आप पोस्ट ग्रैजुएशन कोर्स की बजाय डॉक्टर के तौर पर करियर शुरू करना चाहें तो ये जान लीजिए कि एमबीबीएस कोर्स कर लेने के बाद इस वर्क ऑप्शन को चुनने पर आपको एवरेज कितनी सैलरी मिल सकती जनरल फिजीशियन जनरल फिजिशन के रूप में अपने करियर की शुरुआत करना एक अच्छा ऑप्शन है जनरल फिजिशन मरीजों की आम बीमारियों की स्टडी डायग्नोसिस और क्या करता है लेकिन किसी केस में क्रिटिकल डिजीज होने पर उस मरीज को उस बीमारी के एक्सपोर्ट डॉक्टर को रेफर करता है।

जनरल फिजिशन के तौर पर आप शुरुआत में उपरोक्त चार से पांच लाख पर एनम धारण कर सकते हैं और मेडिकल असिस्टेंट सर्जरी की बात करें तो एमबीबीएस कम करने के बाद आप मेडिकल असिस्टेंट के तौर पर भी अपने करियर की शुरुआत कर सकते हैं एक मेडिकल असिस्टेंट रहते हुए अब कार्डियोलॉजी, मेट्रोलॉजी, ऑन्कोलॉजी, नेफ्रोलॉजी, न्यूरोलॉजी, गायनेकोलॉजी और जूलॉजी जैसे स्पेशलाइजेशन में पेशेंट्स की सर्जरी करना सीख सकेंगे अगर आप सर्जन बनना चाहते हैं तो इसके लिए आपको प्रैक्टिस हमेशा जारी रखनी इसीलिए यह एक अच्छा करियर ऑप्शन साबित होगा एक मेडिकल असिस्टेंट के तौर पर करियर की शुरुआत करने पर तीन से चार लाख परमाह कमा सकते हैं।

शिशु चिकित्सक की यानी Pediatrician

MBBS Course करने के बाद आप शिशु चिकित्सक भी बन सकते हैं। यानी की बच्चों के डॉक्टर एक Pediatrician बच्चों की जनरल ग्रोथ विकास और बीमारियों का इलाज करता है इसके अलावा बच्चों की डायट और एलर्जी जैसे इंश्योरेंस की जानकारी भी पेरेंट्स को देता है एक Pediatrician के तौर पर काम करते हुए आप अपरोक्ष साढ़े चार लाख पर एनम कमा सकते हैं दोस्तो डॉक्टर बनना केवल खुद के सपने को पूरा करने और अच्छा पैसा कमाने तक सीमित नहीं होता है बल्कि इस प्रोफेशन में सेवा की भावना होना पहली जरूरत होती है। यानी मरीजों की बीमारी को आसान तरीके से दूर करने की भावना ही आप कुछ सफल डॉक्टर बना सकती है। इसलिए अगर आप डॉक्टर बनना चाहते हैं तो डीप स्टडी सेल रिपोर्ट्स भारतीय समाज सेवा की भावना जरूरी है अगर आप डॉक्टर बनना चाहते हैं तो हमारी ओर से सारी शुभकामनाएं आपके साथ हैं।

इसी के साथ ये बहुत बड़ी जिम्मेदारी है और बेस्ट ऑल लगे रहिए उम्मीद मत हारिये कोशिश करते रहिए और आप डॉक्टर बन जाएंगे और वैसे भी इस बारे में आपको एमबीबीएस की डिग्री क्या है और MBBS कैसे बने जो जानकारी मिली है कैसी लगी कमेंट बॉक्स में लिख कर बताइएगा किसी को जरूरत है जानकारी की तो प्लीज उसके साथ लेख अबभी के अभी शेयर कीजिएगा।

Anil Srivastava
नमस्कार, मैं Anil Srivastava, TanvisH का Technical Author & Co-Founder हूँ! मुझे नयी नयी Technology से सम्बंधित चीज़ों को सीखना और दूसरों को सिखाने में बड़ा मज़ा आता है. मेरी आपसे विनती है की आप लोग इसी तरह हमारा सहयोग देते रहिये और हम आपके लिए नईं-नईं जानकारी उपलब्ध करवाते रहेंगे!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Popular